Google+ Followers

FREECHARGE CLICK & RECHARGE

loading...

Friday, 30 September 2016

खुशबू की तरह.................

खुशबू की तरह मेरी हर साँस में, 
प्यार अपना बसाने का वादा करो, 
रंग जितने तुम्हारी मोहब्बत के हैं, 
मेरे दिल में सजाने का वादा करो।


Thursday, 29 September 2016

तुम हसीन हो, ............

तुम हसीन हो, गुलाब जैसी हो, 
बहुत नाज़ुक हो ख़्वाब जैसी हो, 
होठों से लगाकर पी जाऊं तुम्हे, 
सर से पाँव तक शराब जैसी हो।


Tuesday, 27 September 2016

मेरी हर नज़र ..................


मेरी हर नज़र में बसी है तू, 
मेरी हर क़लम पे लिखी है तू, 
तुझे सोच लूँ तो ग़ज़ल मेरी, 
न लिख सकूँ तो वो ख्याल है तू


Monday, 26 September 2016

जरूरी तो नही है.....

जरूरी तो नही है कि तुझे आँखों से ही देखूँ.. 
तेरी याद का आना भी तेरे दीदार से कम नही।


Saturday, 24 September 2016

मजबूर नही करेंगे............

मजबूर नही करेंगे तुझे वादे निभानें के लिए, 
बस एक बार आ जा, अपनी यादें वापस ले जाने के लिए।


Friday, 23 September 2016

good morning friends................

good morning friends...


hi

hi  freinds....

Thursday, 22 September 2016

सारा जहाँ उसी का है...................

सारा जहाँ उसी का है जो मुस्कुराना जानता है, 

रौशनी भी उसी की है जो शमा जलाना जानता है, 

हर जगह मंदिर मस्जिद और गुरूद्वारे हैं लेकिन, 
ईश्वर तो उसी का है जो सर झुकाना जानता है। 
। सुप्रभात ।


तेरी आँखों के .........

तेरी आँखों के जादू से 
तू ख़ुद नहीं है वाकिफ़... 

ये उसे भी जीना सिखा देती हैं 
जिसे मरने का शौक़ हो ।


दिल के सागर में लहरें.........

दिल के सागर में लहरें उठाया ना करो, 
ख्वाब बनकर नींद चुराया ना करो, 
बहुत चोट लगती है मेरे दिल को, 
तुम ख्वाबो में आ कर यूँ तड़पाया ना करो...


Wednesday, 21 September 2016

मेरे दिल की हर धड़कन...................

मेरे दिल की हर धड़कन तुम्हारे लिए है, 
मेरी हर दुआ तुम्हारी मुस्कराहट के लिए है । 

तुम्हारी हर अदा मेरे दिल को चुराने के लिए है, 
अब तो मेरी जिंदगी तुम्हारे इंतज़ार के लिए है ।।


Tuesday, 20 September 2016

हर सुबह नए दिन की.................

हर सुबह नए दिन की शुरुआत होती है, 
किसी अपने से बात हो तो खास होती है, 
हँस के प्यार से अपनों को सुप्रभात बोलो, 
तो दिन भर खुशियाँ अपने साथ होती हैं । 
। सुप्रभात


Thursday, 15 September 2016

मिली जब भी...................

मिली जब भी नजर उनसे, 
धड़कता है हमारा दिल, 
पुकारे वो उधर हमको, 
इधर दम क्यों निकलता है।


साँसों की माला ................

साँसों की माला में पिरो कर 
रखे हैं तेरी चाहतो के मोती, 
अब तो तमन्ना यही है कि, 
बिखरूं तो सिर्फ तेरे आगोश में।


Wednesday, 14 September 2016

ख्वाहिश-ए-ज़िंदगी.....................


ख्वाहिश-ए-ज़िंदगी बस 
इतनी सी है अब मेरी, 
कि साथ तेरा हो और 
ज़िंदगी कभी खत्म न हो ।


मुझे सहल.................

Buy YU Yunique (8GB, Black) from Snapdeal
मुझे सहल हो गई मंजिलें वो 
हवा के रुख भी बदल गये, 

तेरा हाथ, हाथ में आ गया 
कि चिराग राह में जल गये ।

Tuesday, 13 September 2016

जज़्बात बहक जाते हैं................

Buy Philips Pro Skin Advanced Trimmer QT4006/15 from Snapdeal

जज़्बात बहक जाते हैं जब तुमसे मिलते हैं, 
अरमान मचल जाते हैं जब तुमसे मिलते हैं, 

मिल जाते हैं आँखों से आँखें, हाथों से हाथ, 
दिल से दिल, रूह से रूह जब तुमसे मिलते हैं।


Monday, 12 September 2016

ऐ सुबह तुम जब...........

ऐ सुबह तुम जब भी आना, 
सबके लिए खुशिया लाना, 
हर चेहरे पर हंसी सजाना, 
हर आँगन में फूल खिलाना ।


मैं तमाम दिन का............

मैं तमाम दिन का थका हुआ, 
तू तमाम शब का जगा हुआ.. 
ज़रा ठहर जा इसी मोड़ पर, 
तेरे साथ शाम गुज़ार लूँ 


Sunday, 11 September 2016

सुबह के फूल ........

सुबह के फूल खिल गए, 
पंछी अपने सफ़र पर उड़ गये। 
सूरज आते ही तारे भी छुप गये, 
लो आप भी मीठी नींद से उठ गये। 
शुभ प्रभात


Saturday, 10 September 2016

आप पहलू में ....................

आप पहलू में जो बैठें तो संभल कर बैठें, 
दिल-ए-बेताब को आदत है मचल जाने की।


Friday, 9 September 2016

लाखों में इंतिख़ाब....................


लाखों में इंतिख़ाब के क़ाबिल बना दिया, 
जिस दिल को तुमने देख लिया दिल बना दिया, 
पहले कहाँ ये नाज़ थे, ये इश्वा-ओ-अदा, 
दिल को दुआएँ दो तुम्हें क़ातिल बना दिया।


कोई ग़ज़ल सुना..............

कोई ग़ज़ल सुना कर क्या करना, 
यूँ बात बढ़ा कर क्या करना, 
तुम मेरे थे, तुम मेरे हो, 
दुनिया को बता कर क्या करना, 
तुम साथ निभाओ चाहत से, 
कोई रस्म निभा कर क्या करना, 
तुम खफ़ा भी अच्छे लगते हो, 
फिर तुमको मना कर क्या करना।


Thursday, 8 September 2016

तुम्हारी प्यार भरी.....................


तुम्हारी प्यार भरी निगाहों को हमें कुछ ऐसा गुमान होता है 
देखो ना मुझे इस कदर मदहोश नज़रों से कि दिल बेईमान होता है।


संगमरमर के महल................

संगमरमर के महल में तेरी तस्वीर सजाऊंगा, 

अपने इस दिल में तेरे ही ख्वाब जगाऊंगा, 
यूँ एक बार आजमा के देख तेरे दिल में बस जाऊंगा, 
मैं तो प्यार का हूँ प्यासा तेरे आगोश में मर जाऊॅंगा। 


Wednesday, 7 September 2016

कब तक वो मेरा..............

कब तक वो मेरा होने से इंकार करेगा, 
खुद टूट कर वो एक दिन मुझसे प्यार करेगा, 
इश्क़ की आग में उसको इतना जला देंगे, 
कि इज़हार वो मुझसे सर-ए-बाजार करेगा


Tuesday, 6 September 2016

हँसना और हँसाना..................

हँसना और हँसाना कोशिश है मेरी, 
हर कोई खुश रहे ये चाहत है मेरी, 
भले ही मुझे कोई याद करे या ना करे, 
हर अपने को याद करना आदत है मेरी। 
सुप्रभात


तेरी आँखों के................

जादू से 
तू ख़ुद नहीं है वाकिफ़... 

ये उसे भी जीना सिखा देती हैं 
जिसे मरने का शौक़ हो ।


मेरी चाहतें तुमसे.................


मेरी चाहतें तुमसे अलग कब हैं, 
दिल की बातें तुमसे छुपी कब हैं । 

तुम साथ रहो दिल में धड़कन की जगह, 
फिर ज़िन्दगी को साँसों की ज़रुरत कब है ।


Sunday, 4 September 2016

बीत गई तारों ..................

बीत गई तारों वाली सुनहरी रात, 
याद आई फिर वही प्यारी सी बात, 
खुशियों से हर पल हो आपकी मुलाकात, 
इसलिए मुस्कुरा के करना दिन की शुरुआत। 
सुप्रभात


मेरे दिल की हर................


मेरे दिल की हर धड़कन तुम्हारे लिए है, 
मेरी हर दुआ तुम्हारी मुस्कराहट के लिए है । 

तुम्हारी हर अदा मेरे दिल को चुराने के लिए है, 
अब तो मेरी जिंदगी तुम्हारे इंतज़ार के लिए है ।


कुछ मतलब के .............


कुछ मतलब के लिए ढूँढते हैं मुझको, 
बिन मतलब जो आए तो क्या बात है, 
कत्ल कर के तो सब ले जाएँगे दिल मेरा, 
कोई बातों से ले जाए तो क्या बात है.


Saturday, 3 September 2016


गर मेरी चाहतों ....................

गर मेरी चाहतों के मुताबिक 
ज़माने की हर बात होती, 

तो बस मैं होता..तुम होती.. 
और सारी रात बरसात होती 


मिली जब भी................

मिली जब भी नजर उनसे, 
धड़कता है हमारा दिल, 
पुकारे वो उधर हमको, 
इधर दम क्यों निकलता है।



साँसों की माला............

साँसों की माला में पिरो कर 
रखे हैं तेरी चाहतो के मोती, 
अब तो तमन्ना यही है कि, 
बिखरूं तो सिर्फ तेरे आगोश में।


Friday, 2 September 2016

ख्वाहिश-ए-ज़िंदगी.............

ख्वाहिश-ए-ज़िंदगी बस 
इतनी सी है अब मेरी, 
कि साथ तेरा हो और 
ज़िंदगी कभी खत्म न हो ।


मुझे सहल हो................

मुझे सहल हो गई मंजिलें वो 
हवा के रुख भी बदल गये, 

तेरा हाथ, हाथ में आ गया 
कि चिराग राह में जल गये ।


Thursday, 1 September 2016

जज़्बात बहक जाते हैं...............

जज़्बात बहक जाते हैं जब तुमसे मिलते हैं, 
अरमान मचल जाते हैं जब तुमसे मिलते हैं, 
मिल जाते हैं आँखों से आँखें, हाथों से हाथ, 
दिल से दिल, रूह से रूह जब तुमसे मिलते हैं।


खुशबू की तरह...............

खुशबू की तरह मेरी हर साँस में, 
प्यार अपना बसाने का वादा करो, 
रंग जितने तुम्हारी मोहब्बत के हैं, 
मेरे दिल में सजाने का वादा करो।