Google+ Followers

FREECHARGE CLICK & RECHARGE

loading...

Sunday, 31 January 2016

कोई छुपाता है................

कोई छुपाता है कोई बताता है,


कोई रुलाता है तो कोई हँसाता है,

प्यार तो हर किसीको है किसी ना किसी से,

फर्क इतना है कोई आज़माता है और कोई निभाता है…



कैसे बताये ..................

कैसे बताये तुम्हे कितना प्यार करते है,


सोचते है कह दे पर कहने से डरते है,

कही दोस्ती का रिश्ता टूट ना जाये हमारा,

बस इसलिए हम चुप रहा करते है…



जादु है तेरी...........

जादु है तेरी हर एक बात मे,


याद बहुत आते हो दिन और रात मे,

कल जब देखा था मैने सपना रात मे,

तब भी आपका ही हाथ था मेरे हाथ मे



कितना प्यार.........

कितना प्यार करते है हम उनसे,


काश उनको भी ये एहसास हो जाए,



मगर ऎसा न हो के वो होश मे तब आए,

जब हम किसी और के हो जाए…



ढलती शाम ...............

ढलती शाम का खुला एहसास है ,

मेरे दिल में तेरी जगह कुछ खास है ,

तू नहीं है यहाँ मालूम है मुझे ...

पर दिल ये कहता है तू यहीं मेरे पास है


तुझे अपना..................

तुझे अपना मुक्कदर बताते है हम,


खुदा के बाद तेरे आगे सर झुकाते है हम,

प्यार का रिश्ता तोड मत देना,

इस रिश्ते के दम पर ही मुस्कुराते है हम…



बडे अजीब है...................

बडे अजीब है यह जिंदगी के रास्ते,

अनजाने मोड पर कुछ लोग प्यारे बन जाते है,

मिलने की खुशी दे या ना दे,

बिछडने का गम ज़रूर दे जाते है…



Saturday, 30 January 2016

मुस्कान तेरे.............

मुस्कान तेरे होठों से कही जाए न,

आंसू तेरी पलकों पे कही आए न,

पूरा हो तेरा हर खवाब,

और जो पूरा न हो वो खवाब कभी आए न !!


तेरी हर अदा.......................

तेरी हर अदा मोहब्बत सी लगती है,

एक पल की जुदाई मुद्दत सी लगती है,

पहले नही सोचा था अब सोचने लगे है हम,

जिंदगी के हर लम्हों में तेरी ज़रूरत सी लगती है


तुफानो में ..............

तुफानो में कश्ती को किनारे भी मिलते है,

जहाँ मे लोगों को सहारे भी मिलते है,

दुनिया मे सब से प्यारी है जिंदगी,

लेकिन कुछ लोग जिंदगी से भी प्यारे मिलते है…



जुदा होने..............

जुदा होने की बात हमसे मत किजिये,

जुदा होकर तो कभी जी न पाएंगे,

अरे आप तो शायद जी लेंगे हमारे बिन,

मगर हम तो आपके बिना मर ही जायेंगे



जिस पल मे............

जिस पल मे टूट जाते है सपने,

उस पल मे ही रूठ जाते है अपने,

हमे किसी को मनाना नही आता,

शायद तभी तो हमसे रूठ जाते है अपने…



चाँद तो............

चाँद तो एक नुर है

इसलिए उसे खुद पे गुरूर है,

हम गुरूर करे भी तो किस पे करे,

हमारा तो चाँद ही हमसे दुर है…



खता हो ............

खता हो गई तो सजा सुना दो,

दिल मे इतना दर्द क्यो है वजह बता दो,

देर हो गई है याद करने मे जरूर,

लेकिन तुम्हे भुला देंगे ये खयाल दिल से मिटा दो



दूर जाकर ...........

दूर जाकर भी हम दूर जा ना सकेंगे,

कितना रोयेंगे बता ना सकेंगे,

गम इसका नही की आप मिल ना सकोगे,

दर्द इस बात का होगा की हम आपको भुला ना सकेंगे



कुछ सोचु ............

कुछ सोचु तो आपका खयाल आ जाता है,
कुछ बोलु तो आपका नाम आ जाता है,
कब तक छुपाऊ दिल की बात,
आपकी हर अदा पर हमको प्यार आ जाता है…



रब करे.............

रब करे जिंदगी मे ऎसा मुकाम आए,
मेरी रूह और जान आपके काम आए,
हर दुआ मे बस यही मांगते है रब से,
की अगले जनम मे भी आपके
नाम के साथ मेरा नाम आए…



सोचा याद..........

सोचा याद न करके थोड़ा तड़पाऊं उनको,

किसी और का नाम लेकर जलाऊं उनको,

पर चोट लगेगी उनको तो दर्द मुझको ही होगा,

अब ये बताओ किस तरह सताऊं उनको



दूरियों की.............

दूरियों की ना परवाह किजिये,

दिल जब भी पुकारे बुला लिजीये,

कहीं दूर नहीं हैं हम आपसे,

बस अपनी पलकों को आँखों से मिला लिजीये…



Friday, 29 January 2016

प्यार कर के..........

प्यार कर के कोई जताए ये ज़रूरी तो नहीं,

याद कर के कोई बताये ये ज़रूरी तो नहीं,

रोने वाले तो दिल में ही रो लेते हैं,

किसी की आँखों में आँसू आये ये ज़रूरी तो नहीं



दिल की.........

दिल की हसरत जुबान पर आने लगी,
तुमको देखा और जिंदगी मुस्कुराने लगी,
ये मेरी दोस्ती है या दिवानगी,
हर सुरत मे तेरी सुरत नजर आने लगी



खूबियाँ इतनी.............

खूबियाँ इतनी तो नही हम मे,

की किसी के दिल मे हम घर बना पाएंगे,

पर भुलाना भी आसान ना होगा हमे,

साथ कुछ ऎसा निभा जाएंगे…



जियो इतना...............

जियो इतना की जिंदगी कम पड जाए,

हँसो इतना की रोना मुश्किल हो जाए,

किसी चीज को पाना तो किस्मत की बात है,

मगर चाहो इतना की भगवान देने को मजबूर हो जाए



उलफत का ............

उलफत का अकसर यही दस्तूर होता है,
जिसे चाहो वही दूर होता है.
दिल टुट कर बिखरते हैं इस कदर,
जैसे कोई काँच का खिलोना चूर चूर होता है !!


क्या कहे बिन.........

क्या कहे बिन तेरे ये जिंदगी है कैसी,

दिल को जलाती ये बेबसी है कैसी
,
ना कह पाते है ना सह पाते है,

ना जाने तकदीर मे लिखी ये आशिकी है कैसी



दिल की किताब................

दिल की किताब मे गुलाब उनका था,

रात की नींद मे ख्वाब उनका था,

है कितना प्यार ये जब हमने पूछा,

मर जायेंगे बिन तेरे ये जवाब उनका था



तू देख या.........

तू देख या न देख, तेरे देखने का ग़म नहीं;
तेरा न देखना भी तेरे देखने से कम नहीं;
शामिल नहीं हैं जिसमे तेरी यादे;
वो जिन्दगी भी किसी जहन्नुम से कम नहीं।

Thursday, 28 January 2016

वो कहते हैं.............

वो कहते हैं मुझसे कोई और बात करो;

लाऊँ कहाँ से बात अब उनकी बात के सिवा



तू देख या..........

तू देख या न देख, तेरे देखने का ग़म नहीं;
तेरा न देखना भी तेरे देखने से कम नहीं;
शामिल नहीं हैं जिसमे तेरी यादे;
वो जिन्दगी भी किसी जहन्नुम से कम नहीं।

कहा ये............

कहा ये किसने कि फूलों से दिल लगाऊं मैं;
अगर तेरा ख्याल ना सोचूं तो मर जाऊं मैं;
माँग ना मुझसे तू हिसाब मेरी मोहब्बत का;
आ जाऊं इम्तिहान पर तो हद्द से गुज़र जाऊं मैं



जब भी............

जब भी तेरी यादों को आसपास पाता हूँ;
खुद को हद दर्ज़े तक उदास पाता हूँ;
तुझे तो मिल गई खुशियाँ ज़माने भर की;
मै अब भी दिल में वही प्यास पाता हूँ।

जरा सा.............

जरा सा भी नही पिघलता दिल तेरा;

इतना क़ीमती पत्थर कहाँ से ख़रीदा है।



यूँ तो.............

यूँ तो तमन्ना दिल में ना थी लेकिन;

ना जाने तुझे देखकर क्यों आशिक बन बैठे।

वक़्त बदला..........

वक़्त बदला और बदली कहानी है;
संग मेरे हसीन पलों की यादें पुरानी हैं;
ना लगाओ मरहम मेरे ज़ख्मों पर;
मेरे पास उनकी बस यही एक बाकी निशानी है।

तू मेरा.............

तू मेरा सपना मेरा अरमान है;
पर शायद तू अपनी अहमियत से अनजान है;
मुझसे कभी भी रूठ मत जाना;
क्योंकि मेरी दुनिया तेरे बिना वीरान है।

क़दमों की दूरी........

क़दमों की दूरी से दिलों के फांसले नहीं बढ़ते;
दूर होने से एहसास नहीं मरते;
कुछ क़दमों का फांसला ही सही हमारे बीच;
लेकिन ऐसा कोई पल नहीं जब हमको याद नहीं करते।

कुछ ही पलों ..........

कुछ ही पलों में ज़िन्दगी की तस्वीर बदल जाती है;
कुछ ही पलों में ज़िन्दगी की तक़दीर बदल जाती है;
कभी किसी को अपना बना कर दूर मत जाना;
क्योंकि एक ही जुदाई से किसी की पूरी ज़िन्दगी बिखर जाती है।

चेहरे पे ख़ुशी.....

चेहरे पे ख़ुशी छा जाती है, आँखों में सुरूर आ जाता है;
जब तुम मुझे अपना कहते हो तो अपने पे गुरूर आ जाता है;
तुम हुस्न की खुद एक दुनिया हो शायद ये तुम्हें मालूम नहीं;
महफ़िल में तुम्हारे आने से हर चीज़ पे नूर आ जाता है।

बहुत वक़्त .............

बहुत वक़्त लगा हमें आप तक आने में;
बहुत फरियाद की खुदा से आपको पाने में;
कभी यह दिल तोड़ कर मत जाना;
हमने उम्र लगा दी आप जैसा सनम पाने में।

Wednesday, 27 January 2016

छोटी सी ज़िन्दगी.........

छोटी सी ज़िन्दगी में अरमान बहुत थे;
हमदर्द कोई न था इंसान बहुत थे;
मैं अपना दर्द बताता भी तो किसे बताता;
मेरे दिल का हाल जानने वाले अनजान बहुत थे।

सर्द मौसम...........

सर्द मौसम का मज़ा कितना अलग सा है;
तनहा रात में इंतज़ार कितना अलग सा है;
धुंध बनी नक़ाब और छुपा लिया सितारों को;
उनकी तन्हाई का अब एहसास कितना अलग सा है।

आँखों की गहराई..........

आँखों की गहराई को समझ नहीं सकते;
होंठों से हम कुछ कह नहीं सकते;
कैसे बयाँ करें हम यह हाल-ए-दिल आपको;
कि तुम्हीं हो जिसके बगैर हम रह नहीं सकते।



Monday, 25 January 2016

बहुत वक़्त..........

बहुत वक़्त लगा हमें आप तक आने में;
बहुत फरियाद की खुदा से आपको पाने में;
कभी यह दिल तोड़ कर मत जाना;
हमने उम्र लगा दी आप जैसा सनम पाने में।

Sunday, 24 January 2016

छोटी सी ...............

छोटी सी ज़िन्दगी में अरमान बहुत थे;
हमदर्द कोई न था इंसान बहुत थे;
मैं अपना दर्द बताता भी तो किसे बताता;
मेरे दिल का हाल जानने वाले अनजान बहुत थे।

Saturday, 23 January 2016

छोटी सी...........

छोटी सी ज़िन्दगी में अरमान बहुत थे;
हमदर्द कोई न था इंसान बहुत थे;
मैं अपना दर्द बताता भी तो किसे बताता;
मेरे दिल का हाल जानने वाले अनजान बहुत थे।

सर्द मौसम........

सर्द मौसम का मज़ा कितना अलग सा है;
तनहा रात में इंतज़ार कितना अलग सा है;
धुंध बनी नक़ाब और छुपा लिया सितारों को;
उनकी तन्हाई का अब एहसास कितना अलग सा है।

आँखों की.............

आँखों की गहराई को समझ नहीं सकते;
होंठों से हम कुछ कह नहीं सकते;
कैसे बयाँ करें हम यह हाल-ए-दिल आपको;
कि तुम्हीं हो जिसके बगैर हम रह नहीं सकते।

देख मेरी.........

देख मेरी आँखों में ख्वाब किसके हैं;
दिल में मेरे सुलगते तूफ़ान किसके हैं;
नहीं गुज़रा कोई आज तक इस रास्ते से हो कर;
फिर ये क़दमों के निशान किसके हैं।


Friday, 22 January 2016

देख मेरी...........

देख मेरी आँखों में ख्वाब किसके हैं;
दिल में मेरे सुलगते तूफ़ान किसके हैं;
नहीं गुज़रा कोई आज तक इस रास्ते से हो कर;
फिर ये क़दमों के निशान किसके हैं।



Thursday, 21 January 2016

टूटे हुए पैमाने ............

टूटे हुए पैमाने में कभी जाम नहीं आता;
इश्क़ के मरीज़ों को कभी आराम नहीं आता;
ऐ दिल तोड़ने वाले तुमने यह नहीं सोचा;
कि टूटा हुआ दिल कभी किसी के काम नहीं आता